Indian Railways News

Central Railway gets new CAO/Cn and CEE

Shri S. K. Tiwari has taken over as Chief Administrative Officer (Construction), Central Railway, Mumbai. Prior to this he was working as Principal Chief Engineer, Eastern Railway, Kolkatta.

Shri Tiwari holds degree in Bachelor of Engineering (Civil) from Maulana Azad National Institute of Technology, Bhopal.

Shri Tiwari belongs to 1980 IRSE Batch. He has varied administrative experience as Chief Engineer (General) and Chief Track Engineer, Western Railway, Mumbai and also worked  on West Central Railway and  RITES on important projects.

श्री एस. के. तिवारी ने मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण),  मध्‍य रेल के रूप में पदभार ग्रहण किया है। इससे पहले आप पूर्व रेलवे, कोलकाता में प्रधान मुख्‍य इंजीनियर के पद पर कार्यरत थे।

आप मौलाना आजाद नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, भोपाल से सिविल इंजीनियरिंग  मे स्‍नातक हैं।

श्री तिवारी, भारतीय रेल इंजीनियरिंग सेवा 1980 बैच के अधिकारी हैं। आप के पास पश्चिम रेलवे पर मुख्‍य इंजीनियर (सामान्‍य) तथा मुख्‍य रेल पथ इंजीनियर पदों का गहन प्रशासनिक अनुभव हैं।

आपने पश्चिम मध्‍य रेल तथा राईटस् (RITES) की महत्‍वपूर्ण परियोजनाओं पर भी कार्य किया हैं।

यह प्रेस विज्ञप्ति सुनील उदासी, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, मध्‍य रेलवे, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस मुंबई द्वारा जारी की गई है।

Shri S.P. Vavre has taken over as Principal Chief Electrical Engineer, Central Railway.  He is a Senior Officer of Indian Railway Service of Electrical Engineers of 1982 Batch.

Shri Vavre joined Indian Railways in 1984.  He has worked on North Central Railway, Central Railway, West Central Railway, Research Designs & Standards Organisation (RDSO) and Integral Coach Factory, Chennai in different capacities.  He has wide experience in OHE, Electric Loco Maintenance and Operation, General Service, General Management, EMU Workshop & Production Units working. He has worked on various positions such as Executive Director/RDSO, Additional DRM Bhusaval, Chief Electrical General Engineer, Integral Coach Factory, Chennai, Chief Electrical Loco Engineer, Southern Railway. Prior to taking over as PCEE, Central Railway he was working as Chief Electrical Design Engineer with Additional charge of Principal Chief Electrical Engineer, Integral Coach Factory, Chennai.

श्री एस पी वावरे ने मध्‍य रेल के प्रधान मुख्य बिजली इंजीनियर, के रूप में पदभार ग्रहण किया है। आप भारतीय रेल इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग 1982 बैच के अधिकारी हैं।

श्री वावरे वर्ष 1984 में भारतीय रेल में शामिल हुए। आपने उत्तर मध्य रेल, मध्‍य रेल, पश्चिम मध्‍य रेल,  अनुसंधान डिजाइन तथा मानक संगठन, लखनऊ एवं इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई में अपनी सेवाएं प्रदान की है। आपके पास ओएचई, इलेक्ट्रिक लोको रखरखाव एवं संचालन, सामान्य सेवा, सामान्य प्रबंधन, ईएमयू कार्यशाला और उत्पादन इकाइयों में कार्य करने का गहन अनुभव है। आपने कार्यकारी निदेशक / आरडीएसओ, अपर मंडल रेल प्रबंधक, भुसावल,  मुख्य बिजली इंजीनियर (सामान्‍य),  इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई, मुख्‍य बिजली लोको इंजीनियर, दक्षिण रेलवे जैसे विभिन्न महत्‍वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। मध्‍य रेल पर प्रधान मुख्य बिजली इंजीनियर के रूप में पदभार ग्रहण करने से पहले आप इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई में मुख्‍य बिजली डि‍जाईन इंजीनियर के साथ-साथ अतिरिक्‍त प्रधान मुख्‍य बिजली इंजीनियर के पद पर कार्यरत थे।

यह प्रेस विज्ञप्ति सुनील उदासी, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, मध्‍य रेलवे, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस मुंबई द्वारा जारी की गई है

Post a comment